Skip to Content

दिव्‍यांगजन सशक्तिकरण विभाग कल ‘दिव्‍यांगजनों के लिए कौशल विकास पर राष्‍ट्रीय कार्यशाला

दिव्‍यांगजन सशक्तिकरण विभाग कल ‘दिव्‍यांगजनों के लिए कौशल विकास पर राष्‍ट्रीय कार्यशाला

Be First!
दिव्‍यांगजन सशक्तिकरण विभाग कल ‘दिव्‍यांगजनों के लिए कौशल विकास पर राष्‍ट्रीय कार्यशाल’

सामाजिक न्‍याय एवं अधिकारिता मंत्रालय का दिव्‍यांगजन सशक्तिकरण विभाग कल यहां ‘दिव्‍यांगजनों के लिए कौशल विकास पर राष्‍ट्रीय कार्यशाला’ आयोजित करेगा। इस कार्यशाला के आयोजन का उद्देश्‍य समस्‍त हितधारकों को एक प्‍लेटफॉर्म प्रदान करना है। इन हितधारकों में प्रशिक्षण साझेदारों से लेकर नीति निर्माताओं के साथ-साथ नियोक्‍ता भी शामिल हैं।

सामाजिक न्‍याय एवं अधिकारिता मंत्री श्री थावरचंद गहलोत इस कार्यशाला का उद्घाटन करेंगे और कौशल विकास एवं उद्यमिता मंत्री श्री धर्मेन्‍द्र प्रधान इस अवसर पर सम्‍मानित अतिथि होंगे। सामाजिक न्‍याय एवं अधिकारिता मंत्रालय में राज्‍य मंत्री श्री कृष्‍णपाल गुर्जर इस कार्यशाला को संबोधित करेंगे। कॉरपोरेट क्षेत्र (निजी एवं सार्वजनिक दोनों ही) एवं राज्‍य सरकारों के प्रतिनिधिगण और दिव्‍यांगजन सशक्तिकरण विभाग के सूचीबद्ध प्रशिक्षण केन्‍द्र इस एक दिवसीय कार्यशाला में हिस्‍सा लेंगे।

इस कार्यशाला के दौरान दिव्‍यांगजनों के कौशल विकास से जुड़े समस्‍त मसलों पर विचार-विमर्श किया जाएगा और इसके साथ ही दिव्‍यांगजनों के संदर्भ में कौशल विकास के लिए प्रमुख क्षेत्रों की पहचान हेतु आवश्‍यक समाधान पेश किया जाएगा। इसके अलावा, दिव्‍यांगजनों की विभिन्‍न श्रेणियों के उपयुक्‍त मानचित्रण अर्थात औद्योगिक आवश्‍यकता और निजी क्षेत्र में दिव्‍यांगजनों को अपना मूल्‍यवान श्रमबल समझने के लिए सकारात्‍मक रुख को प्रोत्‍साहित करने की उपयुक्‍त व्‍यवस्‍था पर भी विचार-विमर्श किया जाएगा।

उपर्युक्‍त कार्यशाला में निम्‍नलिखित पांच सत्र आयोजित किए जाएंगे :

  1. उद्घाटन सत्र – इसमें सामाजिक न्‍याय एवं अधिकारिता मंत्री, कौशल विकास एवं उद्यमिता मंत्री और सामाजिक न्‍याय एवं अधिकारिता राज्‍य मंत्री शिरकत करेंगे।
  2. सत्र I – विषय : कौशल मानचित्रण अर्थात दिव्‍यांगजनों की श्रेणियां – राष्‍ट्रीय संस्‍थानों के निदेशकों, एमएसडीई और एनएसडीसी के प्रतिनिधियों द्वारा प्रस्‍तुतियां एवं पैनल परिचर्चा।
  3. सत्र II – प्रशिक्षण उपरांत प्‍लेसमेंट के नियमन की व्‍यवस्‍था सहित सार्वजनिक/निजी क्षेत्र में प्‍लेसमेंट के अवसर – औद्योगिक निकाय, सार्वजनिक उपक्रमों (पीएसयू) और निजी क्षेत्र की कंपनियों के प्रतिनिधियों द्वारा प्रस्‍तुतियां एवं पैनल परिचर्चा।
  4. सत्र III – विषय : कौशल मानचित्रण अर्थात दिव्‍यांगजनों की श्रेणियां – ईटीपी और दिव्‍यांगजनों के लिए कौशल परिषद द्वारा प्रस्‍तुतियां एवं पैनल परिचर्चा।
  5. संवादात्‍मक सत्र : प्रश्‍नोत्‍तरी/सार प्रस्‍तुत करना।
Previous
Next

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*