Skip to Content

मोदी सरकार में बढ़ा बीफ का कारोबार, भारत बना सबसे बड़ा निर्यातक, 27 हज़ार करोड़ का हो रहा है सालाना निर्यात

मोदी सरकार में बढ़ा बीफ का कारोबार, भारत बना सबसे बड़ा निर्यातक, 27 हज़ार करोड़ का हो रहा है सालाना निर्यात

Be First!

नई दिल्ली। केंद्र में भाजपा की सरकार आने के बाद से भाजपा के सहयोगी संगठनों ने देश भर में गो रक्षा के नाम पर आतंक फैला रखा है। गो रक्षा के नाम पर कहीं भी कभी निरीह लोंगों की पीट पीट कर हत्या कर दी जाती है।
गो रक्षा के नाम पर देश में सैकड़ों लोंगों को मौत के घाट उतार दिया गया। जब देश में गो रक्षा के नाम पर आतंक फैलाने लगा तो सुप्रीम कोर्ट दखल देना पड़ा। सुप्रीम कोर्ट ने भीड़ द्वारा की जा रही लोंगों की हत्या पर चिंता व्यक्त किया और केंद्र सरकार को जल्द से जल्द कानून बनाने का हुक्म दिया।
कोर्ट ने कहा कि किसी को किसी की हत्या करने का अधिकार नही है। ऐसे लोंगों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई होनी चाहिए।
भाजपा शासित केंद्र सरकार हमेशा हत्यारों के बचाव में दिखी और देश के सामने सरकार ने कट्टर हिंदूवादी के रूप में अपना चेहरा बनाये रखा।
जनता मोदी और भाजपा को कट्टर हिन्दू नेता समझती रही और जनता को यह भरोसा है कि मोदी हिंदुओं की भावनाओं का आदर करते हैं और हिन्दुतान में हिंदुत्व की रक्षा सिर्फ भाजपा ही कर सकती है। लेकिन जब अमेरिका की एक संस्था ने बताया कि बीफ निर्यात में भारत नम्बर वन बन गया है और यह सब सम्भव हुआ है मोदी की सरकार में तो तथाकथित धर्म के ठेकेदारों के पैरों के नीचे से ज़मीन निकल गयी।
भाजपा और उसका सहयोगी सन्गठन आरएसएस ज्यादातर अपने ही लोंगों से बीफ का कारोबार करवा रहा है जो पहले से कारोबार कर रहे हैं उनसे करोड़ों रुपए पार्टी फंड के नाम पर चंदा लिया जा रहा है।
सरकार और तथाकथित गो रक्षक रोज़ लाखों गोवंश का वध करवाते है और उनको देश की नजरों से छुपा कर विदेशों में भेजते हैं। आज हालात यह है गोवंश के मांस के निर्यातकों की सूची में भारत पहले स्थान पर पहुंच चुका है और दोषी मुसलमानों को माना जाता है।

एक सर्वे के अनुसार भारत में करीब 71 प्रतिशत आबादी ऐसे लोगों की है जो खाने में मांस का उपयोग करते हैं। और मुस्लिम आबादी लगभग 18% प्रतिशत। अमेरिका के एग्रीकल्चर एक्सपोर्ट डिपार्टमेंट ने अपनी रिपोर्ट में दावा किया था कि मोदी सरकार बनने के बाद पिछले साल अक्टूबर में भारत से बीफ एक्सपोर्ट 5% बढ़कर 20 लाख टन हो गया था। हालांकि चीन जैसे देशों में बीफ की बढ़ती मांग इसकी वजह है। जिस देश में बीफ और गौ हत्या के मुद्दे पर भीड़ हिंसा की शर्मनाक घटना घट रही हैं उस देश का सबसे बड़ा और सबसे आश्चर्यजनक सच ये है कि वर्तमान सरकार में भारत बीफ निर्यात में विश्व में पहले स्थान पर पहुंच गया है। भारत में बीफ के सालाना कारोबार की रकम करीब 27 हजार करोड़ रुपये है।

Previous
Next

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*