Skip to Content

आवास विकास योजना: छह लाख तक बढ़ाई अल्प आय वर्ग की सीमा

आवास विकास योजना: छह लाख तक बढ़ाई अल्प आय वर्ग की सीमा

Be First!
लखनऊ। आवास विकास परिषद ने गरीबों को आवास उपलब्ध कराने की योजना में अधिक परिवारों को शामिल करने के लिए निर्धारित आय सीमा को बढ़ाकर तीन गुना कर दिया है। दुर्बल आय वर्ग के तहत अब तक जहां एक लाख रुपये सालाना आय वालों को ही आवास का पात्र माना जाता था, वहीं अब तीन लाख रुपये तक की सालाना आय वाले भी योजना के तहत आवास हासिल कर सकेंगे। इसी तरह अल्प आय वर्ग के लिए निर्धारित दो लाख रुपये तक की सालाना आय की सीमा को बढ़ाकर छह लाख रुपये कर दिया गया है।

आवास विकास परिषद की सोमवार को हुई 244वीं बोर्ड बैठक में गरीबों की आय सीमा का पुनर्निधारण करने के साथ ही भवनों व फ्लैट्स की दरें कम करने पर भी विमर्श किया गया। परिषद अध्यक्ष व प्रमुख सचिव आवास मुकुल सिंघल ने परिषद द्वारा बनाए जाने वाले भवनों व फ्लैट्स की दरें कम करने के लिए मूल्यांकन निर्देशिका तैयार करने का निर्देश वित्त नियंत्रक को दिया। सिंघल ने आवासों की बढ़ती कीमतों पर प्रभावी नियंत्रण के लिए दो महीने में मूल्यांकन निर्देशिका तैयार करने को कहा। बोर्ड बैठक में निदेशक मंडल ने इटावा नगर में प्रस्तावित परिषद की सूत मिल आवासीय योजना के धारा-28 के प्रस्ताव का अनुमोदन किया गया। साथ ही लखनऊ की आम्रपाली योजना के आवंटियों की समस्याओं के संबंध में न्यायालय द्वारा पारित निर्णय के क्रम में व्यक्तिगत सुनवाई की गई।
बैठक में अधिकारियों ने अध्यक्ष को आर्थिक स्थिति के सुदृढ़ होने के प्रति आश्वस्त करते हुए बताया कि परिषद ऋणमुक्त संस्था है। अधिकारियों ने जानकारी दी कि परिषद की वित्तीय वर्ष 2016-17 की आय का व्यय पर आधिक्य 158.94 करोड़ रुपये हो गया है, जो पिछले साल के मुकाबले 108.26 करोड़ रुपये अधिक है। बोर्ड बैठक में परिषद की नेटवर्थ 4906.20 करोड़ रुपये बताई गई। साथ ही वर्ष 2016-17 की अनुग्रह धनराशि (एक्सग्रेशिया) के भुगतान का निर्णय लिया गया। बैठक में आवास आयुक्त धीरज साहू, अपर आवास आयुक्त व सचिव महेंद्र कुमार व मुख्य नगर एवं ग्राम नियोजक के प्रतिनिधि अजय कुमार मिश्रा सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे।

Previous
Next

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*