Skip to Content

आज़मगढ़ पुलिस ने बिना जांच किये ही 3 मासूमों पर एससी/एसटी एक्ट में किया मामला दर्ज, सीओ के पास पहुंचा मामला

आज़मगढ़ पुलिस ने बिना जांच किये ही 3 मासूमों पर एससी/एसटी एक्ट में किया मामला दर्ज, सीओ के पास पहुंचा मामला

Be First!

आजमगढ़। यूपी पुलिस की कार्यशैली ने विभाग को बार बार शर्मिंदा किया है। ग्रामीणों के मामूली से झगड़े में पुलिस वालों ने तीन नाबालिग मासूमों को आरोपी बना कर एसएसटी एक्ट के अंतर्गत मामला दर्ज कर लिया।

घटना थाना बिलरियागंज की है। जहां पुलिस ने बगैर जांच किए ही मारपीट के मामले में एक ही परिवार के चार सदस्यों संग तीन नाबालिगों के खिलाफ भी एससी/एसटी की धारा में मुकदमा दर्ज कर लिया। मामले की जानकारी मिलते ही पीड़ित परिजन ने  नाबालिगों को लेकर सीओ से मिलकर पुलिस की लापरवाही की शिकायत किया। सीओ ने पुलिस महकमे के बचाव करते हुए पीड़ित परिजन को जांच करके कार्रवाई करने का भरोसा दिया है।

गौरतलब है कि थाना बिलरियागंज अंतर्गत ग्राम भगतपुर  निवासी विजेंद्र पासवान व मोहन प्रजापति के बीच भूमि को लेकर काफी दिनों से विवाद चल रहा है।  इस विवाद को लेकर 31 जुलाई की दोपहर को दोनों पक्षों के बीच कहासुनी के दौरान मारपीट हुई थी। मारपीट में दोनों पक्षों के लोग घायल हुए थे। दोनों पक्षों ने इस संबंध में प्राथमिकी दर्ज कराने के लिए बिलरियागंज थाने पर पहुंच कर पुलिस को तहरीर दी थी। विजेंद्र पासवान की तहरीर पर पुलिस ने दूसरे पक्ष के सुरेंद्र प्रजापति पुत्र राजदेव समेत 7 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया।

जबकि दूसरे पक्ष के मोहन प्रजापति की तहरीर पर प्रथम पक्ष के श्रीराम पासवान समेत 5 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया। जब पुलिस मामले की जांच के लिए भगतपुर गांव पहुंची तब सुरेंद्र प्रजापति पक्ष के लोगों को जानकारी हुई कि उनके परिवार के चार सदस्यों के साथ ही 3 नाबालिगों के भी खिलाफ पुलिस ने मारपीट, धमकी दिए जाने व एससी/एसटी की धारा में मुकदमा दर्ज किया है।

पीड़ित सुरेंद्र के परिजनों का कहना है कि जिन तीन नाबालिगों को पुलिस ने आरोपित बनाया है उनमें एक की उम्र 6 वर्ष, दूसरे की 8 व तीसरे की 12 वर्ष है। पीड़ितों का कहना है कि घटना के वक्त तीनों बच्चे मौके पर नहीं थे। Report: Abdullah Shaikh

Previous
Next

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*