Skip to Content

लक्ष्य बना कर उसे पाने के लिये संघर्ष करो, कामयाबी अवश्य मिलेगी: KD Siddiqui

लक्ष्य बना कर उसे पाने के लिये संघर्ष करो, कामयाबी अवश्य मिलेगी: KD Siddiqui

Be First!

सामाजिक परिवर्तन के लिए मुसलमानों को पहले चेतना में लाना होगा। आज जब दुनियाँ में नित नए इतिहास लिखे जा रहे हैं। नौजवान विकास की भाग दौड़ में अपना स्थान पाने के होड़ में जी जान से मेहनत कर रहे हैं। ऐसे समय में हमारा फ़िरक़ों में बंट जाना, शिया, सुन्नी और बरेलवी में उलझना हमारे पिछड़ेपन का प्रमुख कारण है। युवाओं में बढ़ती ड्राप एजुकेशन चिंता का विषय है।

अंधकार में सो रहे युवाओं को जगा कर उनके अंदर जागृति, उत्साह और उमंग पैदा करने की आवश्यकता है। समाज के शिक्षित वर्ग को आगे आकर युवाओं का मार्गदर्शन करना होगा। समामाजिक विकास के लिए शिक्षा के साथ साथ हमे अपने रहन सहन, खान पान और दिनचर्या में भी बदलाव की आवश्यकता है।

8वी, 10वी और 12 के बाद पढ़ाई छोड़ देने वाले नौजवनों को आगे जाने का रास्ता पता नही होता है। इस लिए वह लोग वहीं पर रुक जाते हैं। जब उनके सामने आगे जाने का रास्ता दिखाई देगा तो उनके लिए मंजिल पर पहुंचना आसान तो होगा ही साथ उनके अंदर सपने साकार होने का बिश्वास भी बढ़ेगा।

इसके लिए बालकों के साथ साथ परिवार भी ज़िम्मेदार है। परिवार को बुनियादी शिक्षा को मजबूत करने और बालकों व बालिकाओं को पढ़ने का माहौल बनाना होगा। बच्चों के सामने निरर्थक बात करने के बजाय सार्थक विषयों पर चर्चा करने और उन्हें सपने दिखाने की आवश्यकता है।

सही मार्गदर्शन न होने और नकारात्मक सोच के कारण हमारा युवा कोल्हू के बैल की तरह एक ही जगह पर गोल गोल घूम रहा है। जब तक दुनिया बहुत आगे निकल चुकी होती है।
जिन युवाओं के ऊपर देश का भविष्य संवारने की ज़िम्मेदारी है। वह युवा आज मोबाइल की दुनिया में खोया हुआ है। जबकि शिक्षा के अभाव में सही गलत को पहचानने की क्षमता नही है। जिसके कारण वह गलत रास्ते पर जा रहा है।

सामाजिक बदलाव की ज़िम्मेदारी आज के युवाओं के कंधे पर है। युवा कट्टरवाद, अंधविवश्वास और फिरकापरस्ती से बाहर निकल कर आसमान को छूने का सपना बुने। सपने देखें और उसे साकार करने के लिए संघर्ष करें। एक लक्ष्य बना कर उसी पर अपना ध्यान केंद्रित करना होगा। तभी आप को कामयाबी मिलेगी।

Previous
Next

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*