Skip to Content

पैसा लेकर विवादित ज़मीन पर अवैध निर्माण करवा रहे हैं थाना अध्यक्ष अतरौलिया- एसडीएम

पैसा लेकर विवादित ज़मीन पर अवैध निर्माण करवा रहे हैं थाना अध्यक्ष अतरौलिया- एसडीएम

Be First!

अतरौलिया/आज़मगढ़। थाना अतरौलिया अंतर्गत पटेल स्कूल के सामने सुभाष लाल की पुस्तैनी ज़मीन का विवाद लम्बे से तहसील, दीवानी, कमिश्नरी और राजस्व परिषद लखनऊ में विचाराधीन है, वर्ष 2014 से आज़मगढ़ मण्डल आयुक्त महोदय ने निर्माण कार्य पर रोक लगाया हुआ है।

पीड़ित का कहना है कि एसडीएम बूढ़नपुर ने विपक्षियों को निर्माण कार्य की अनुमति दे दिया। जबकि एसडीएम का कहना है की हमने उपरोक्त भूखण्ड पर निर्माण कार्य का कोई आदेश नही दिया है। (एसडीएम से हुई बात की रिकार्डिंग) सुरक्षित है।
“दरोगा पैसा लेकर निर्माण कार्य करवा रहे हैं”।
जब मामला न्यायालय में विचाराधीन होता है तो उसमें हम कोई आदेश नही दे सकते हैं। जबकि थाना अध्यक्ष अतरौलिया अपने बयान पर कायम हैं।
इस पूरे प्रकरण में लाखों का लेन देन हुआ है जिसमें भाजपा के कई छूट भैया नेताओं के शामिल होने की संभावना है।

पीड़ित सुभाष लाल ने “गुलिस्तां” संवाददाता राजेश सिंह को बताया है कि भाजपा के  कुछ नेताओं द्वारा विपक्षी से मिलकर मेरी जमीन पर कब्जा किया जा रहा है जिसकी शिकायत मैंने थाना अतरौलिया, एसडीएम बूढ़नपुर, डीएम आज़मगढ़ और मुख्यमंत्री पोर्टल पर भी किया है लेकिन कहीं पर सुनवाई नही हुई है।
थाना अध्यक्ष अतरौलिया ने कहा है कि एसडीएम के आदेश पर निर्माण कार्य किया जा रहा है। जबकि गुलिस्तां समाचार के सम्पादक से एसडीएम की हुई बात से सच्चाई कुछ और ही सामने आई है। अब यह स्पष्ट हो गया है कि पुलिस और प्रशासन के लोग माननीय न्यायालय को नजरअंदाज करके अपने निजी फायदे के लिए मेरी जमीन पर कब्जा करवा रहे हैं।

गौरतलब है कि अतरौलिया के पटेल स्कूल के सामने गाटा संख्या 1015 और 1016 सुभाष लाल और उनके 6 भाईयों की पुस्तैनी जमीन है जिसको बूढ़नपुर तहसील के लेखपाल राजेन्द्र सिंह, सुदामा देवी पत्नी नंदलाल आदि ने दस्तावेजों में छेड़छाड़ करके सुभाष लाल की बड़ी भाभी से सभी भाईयों का हिस्सा बैनामा करवा लिया।
जब उपरोक्त घोटाले का पता सुभाष लाल को चला तो उन्होंने तत्काल तहसीलदार बूढ़नपुर और एसडीएम को अवगत कराया और जिसका मामला विचाराधीन है। मण्डल आयुक्त महोदय ने उपरोक्त भूखण्ड पर किसी तरह के निर्माण से तत्काल रोक लगा दिया।
मामला 2017 से कई न्यायालयों में विचाराधीन होने के बावजूद एसडीएम द्वारा निर्माण कार्य के आदेश देना सन्देह के दायरे में आता है।

पुलिस और एसडीएम की आंखमिचौली के खुलासे के बाद सुभाष लाल ने थाना अध्यक्ष अतरौलिया से तत्काल अवैध निर्माण रुकवाने का निवेदन किया है नही तो परिवार सहित आत्मदाह करने की घोषणा किया है।

By: KD Siddiqui, E-Mail: editorgulistan@gmail.com

Previous
Next

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*