Skip to Content

GULISTAN

SACH K SATH SADA…..

वैभव के हत्यारे: विक्रम तथा सूरज

वैभव के हत्यारे: विक्रम तथा सूरज

Be First!

लखनऊ । भारतीय जनता पार्टी के पूर्व विधायक प्रेम प्रकाश तिवारी उर्फ जिप्पी तिवारी के पुत्र वैभव तिवारी के हत्यारे आज पकड़े गए हैं। यह लोग लखनऊ कचहरी में आज आत्मसमर्पण करने के प्रयास में थे। पुलिस ने कचहरी से वैभव की हत्या में वांछित विक्रम तथा सूरज को पकडऩे में सफलता प्राप्त की।

डुमरियागंज के पूर्व विधायक जिप्पी तिवारी के बेटे वैभव की हत्या के मामले में पुलिस ने आरोपित हिस्ट्रीशीटर विक्रम और सूरज को सिविल कोर्ट परिसर से गिरफ्तार किया। सीजीएम कोर्ट में सरेंडर करने जा रहे थे दोनों आरोपित। पहले से मौजूद पुलिस ने घेराबंदी कर दबोचा।

बीजेपी के पूर्व विधायक प्रेम प्रकाश उर्फ जिप्पी तिवारी के बेटे वैभव तिवारी हत्याकांड मामले में पुलिस ने रविवार देर रात हत्या के आरोपी व‍िक्रम स‍िंह और सूरज शुक्ला पर 20-20 हजार रुपए का इनाम घोष‍ित क‍िया। पुलिस के मुताबिक वैभव की हत्या की साजिश उसी के दोस्त सूरज ने रची थी और वारदात को अंजाम हिस्ट्रीशीटर विक्रम सिंह ने दिया था।

डुमरियागंज के पूर्व विधायक प्रेम प्रकाश उर्फ जिप्पी तिवारी के 28 वर्षीय बेटे की शनिवार को लखनऊ के हजरतगंज स्थित कसमंडा हाउस के बाहर गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। वैभव बीजेपी नेता जिप्पी तिवारी की इकलौती संतान था।

सूत्रों की माने तो वैभव उर्फ विभू की हत्या सात लाख रुपये के लेनदेन के विवाद में की गई थी। पुलिस की पूछताछ में हत्या आरोपी सूरज शुक्ला के पिता संतोष शुक्ला ने यह जानकारी दी। उन्होंने बताया कि डेढ़ साल से रुपये के लेनदेन को लेकर सूरज व वैभव में तनातनी थी। उन्होंने बेटे को रुपये भूल जाने के लिए भी कहा था, लेकिन वह नहीं माना और अनहोनी हो गई।

Previous
Next

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*