Skip to Content

GULISTAN

SACH K SATH SADA…..

दीन व दुनियावी तालीम हासिल करें: उलमा

Be First!
शेरकोट : बिजनौर जिले के शेरकोट नगर में चल रहे दो दिनी तब्लीगी इज्तिमा के समापन में अकीदतमंदों का सैलाब उमड़ पड़ा। इस दौरान दीन के आलिमों ने कुरान पाक व हदीस पर रोशनी डाली। अहले मोमिन से ईमान के रास्ते पर चलते हुए कमजोर, बेसहारा व जरुरतमंदों की मदद के लिए अपने हाथ आगे बढ़ाने का आह्वान किया।

नगर में कालागढ़ मार्ग के किनारे बीते बुधवार से दो दिवसीय तब्लीगी इज्तिमा का आयोजन शुरू किया गया था। गुरुवार को आयोजन सफलता पूर्वक संपन्न हुआ। इस दौरान बड़ी संख्या में शेरकोट व आसपास इलाकों से भी अकीदतमंद शामिल हुए। दिल्ली के मौलाना शौकत ने कहा कि सभी को दीन के रास्ते पर चलना चाहिए। कुरान पाक अल्लाह का बेशकीमती कलाम है। अकीदतमंदों से कुरान पाक व हदीस पर अमल करते हुए अपने हक की अदायगी करने, अच्छाई पर अमल करने, दीन के रास्ते पर चल दुनिया को जागरुक करने का आह्वान किया। लखनऊ के मौलाना अजीजुर्रहमान व मेहंदी हसन ने मुस्लिमों से दीन व दुनियावी तालीम हासिल करने पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि तालीम हासिल करने के लिए दूर मुल्क तक का सफर भी तय करना पड़े तो पीछे नहीं हटना चाहिए। इज्तिमा में हाजी अब्दुल हफीज, कारी शहजाद, मौलाना सलमान, मुफ्ती अब्दुल वाजिद, हाजी बिलाल, फैजान, जरीफ अहमद, मुफ्ती शुएब, पूर्व विधायक मोहम्मद गाजी, कमाल अहमद, पूर्व पालिकाध्यक्ष शेख कमरुल इस्लाम, फर्रुख, ऐहतेशाम, डा. याकूब, हाजी कमर, बिलाल अहमद, नूर इलाही आदि का योगदान रहा।

शेरकोट : तब्लीगी इज्तिमा में उमड़ी अकीदतमंदों की भीड़ के चलते देहरादून-नैनीताल नेशनल हाइवे गुरुवार दोपहर तक जाम रहा। पुलिस-प्रशासनिक अधिकारियों ने एहतियातन वाहनों को रूट डायवर्जन कर दूसरे मार्गों से गुजारा।

मायूस भी लौटे अकीदतमंदों के कदम

शेरकोट : आयोजनस्थल से दोनों ओर करीब छह किलोमीटर तक मार्ग पर जाम लगा रहा। कुछ लोगों ने जंगल के रास्तों से भी आयोजनस्थल तक पहुंचने का प्रयास किया, लेकिन वहां भी जाम की समस्या आड़े आई। नतीजा बड़ी तादाद में लोगों को मायूस लौटना पड़ा।

देश-विदेश को रवाना हुई जमात

शेरकोट : गुरुवार को इज्तमा के समापन के बाद कुल 56 जमातों को देश-विदेश के अलग-अलग हिस्सों में रवाना किया गया। इज्तिमागाह से निकली एक जमात दूर देश इंडोनेशिया व बाकी 55 जमात देश के ही अलग-अलग हिस्सों में दीन का प्रचार करेंगे।

निकाह के बंधन में बंधे 150 जोड़े

इज्तिमा में 150 जोड़ों ने नए जीवन की शुरुआत की। इज्तिमा में उनके निकाह की रस्म अदा की गई। सभी ने नए जोड़ो को मुबारकवाद दी।

500 बीघा क्षेत्रफल में लाखों की भीड़

500 बीघा से ज्यादा क्षेत्रफल में फैले इज्तिमागाह में शेरकोट व आसपास इलाके के साथ ही प्रदेश के करीब 15 से ज्यादा जनपदों से पहुंचे हजारों अकीदतमंद शामिल रहे।

आम लोगों ने संभाला यातायात संचालन

अकीदतमंदों और वाहनों की भारी भीड़ के बीच आम लोगों ने खुद यातायात संचालन की कमान संभाली। खो बैराज पुल से लेकर इज्तिमागाह तक युवाओं ने वाहनों का संचालन सुचारु रखने का प्रयास किया। बावजूद इसके भीड़ के लगातार बढ़ते दबाव के चलते कई बार जाम की स्थिति बनती रही।

Previous
Next

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*