Skip to Content

GULISTAN

SACH K SATH SADA…..

‘दो घंटे फिर के लिए बात करने का वक्त है लेकिन तीन तलाक कानून के लिए नहीं’

‘दो घंटे फिर के लिए बात करने का वक्त है लेकिन तीन तलाक कानून के लिए नहीं’

Be First!
by December 31, 2017 दिल्ली

नई दिल्लीः मोदी सरकार द्वारा संसद में पेश किए गए तीन तलाक बिल पर एआईएमआईएम चीफ असुद्दीन ओवैसी की नाराजगी कम होने का नाम नहीं ले रही है।अब उन्‍होंने फिल्‍म पद्मावती के बहाने मोदी सरकार फिर हमला बोला है। ओवैसी ने कहा कि दो घंटे की फिल्‍म के लिए लगातार बात की जाती है लेकिन मुस्लिम महिलाओं के सशक्‍तीकरण और न्‍याय से जुड़े मसलों पर जबरन कानून थोप दिया जाता है।

एआईएमएएम चीफ ने ट्वीट कर लिखा, ‘दो घंटे की फिल्‍म के लिए विभिन्‍न संगठनों से सलाह मशवरा किया गया। लेकिन, जब मुस्लिम महिलाओं के सशक्‍तीकरण और उनके साथ न्‍याय की मामला आता है तो कोई बात नहीं की जाती है। बहुमत के आधार पर कानून का त्रुटिपूर्ण मसौदा तैयार कर दिया जाता है जो मौलिक अधिकारों का उल्‍लंघन है।’

एआईएएमएएम नेता व सांसद ओवैसी शुरुआत से तीन तलाक पर कानून बनाने और ऐसा करने वालों को अपराध की श्रेणी में डालने का विरोध कर रहे हैं। इस दौरान ओवैसी की ट्वीट पर लोगों ने तीखी प्रतिक्रिया दी है।इस पर कृष्‍णा ने ट्वीट किया, ‘सर, आप एक फिल्‍म की मुस्लिम महिला से तुलना कर रहे हैं। आप जैसे लोगों की वजह से ही मुस्लिम महिलाएं पीछे रह गईं।’

सुरेश देव सहाय ने लिखा, ‘ओवैसी साहब आप हमेशा बांटने की बात क्‍यों करते हैं? आपको इसमें भी भेदभाव नजर आ रहा है। साह‍ब…थोड़े अच्‍छे किस्‍म की सियासत कीजिए।’

गौरतलब है कि तीन तलाक को अपराध की श्रेणी में डालने वाला विधेयक लोकसभा से पारित हो चुका है। असदुद्दीन ओवैसी ने संसद के निचले सदन में बहस के दौरान इसका पुरजोर विरोध किया था। उन्‍होंने कुछ सुझाव भी दिए थे, जिसे मानने से इंकार कर दिया गया था। अब इस विधेयक पर राज्‍यसभा में बहस होना है, जिसे अगले हफ्ते संसद के उच्च सदन में पेश किया जाएगा।

Previous
Next

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*