Skip to Content

पत्रकार गौरी लंकेश की हत्या को कुतिया की हत्या बताने वाला स्मृति ईरानी के साथ दिखा

पत्रकार गौरी लंकेश की हत्या को कुतिया की हत्या बताने वाला स्मृति ईरानी के साथ दिखा

Be First!

नयी दिल्ली। बेंगलुरु की महिला पत्रकार गौरी लंकेश की 5 सितंबर की रात को उनके घर के बाहर ही कुछ अज्ञात हमलावरों द्वारा गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। महिला पत्रकार की हत्या पर मीडिया से लेकर सोशल मीडिया तक में हंगामा मचा हुआ है। इस मामले में बहस तब और बढ़ गई जब ट्विटर पर कुछ लोग गौरी लंकेश की हत्या को सही ठहराते हुए उनके बारे में आपत्तिजनक और अपमानजनक बातें लिखने लगे। इसी बीच सोशल मीडिया पर मोदी समर्थक निखिल दधीच नाम के एक व्यक्ति ने बेहद आपत्तिजनक और अमर्यादित भाषा का प्रयोग करते हुए गौरी लंकेश की हत्या को सही ठहराया। जिसे देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तक फॉलो करते हैं। जिसके बाद कई सोशल मीडिया यूजर्स ने पीएम मोदी पर निशाना साधते हुए कहा था कि, वह ऐसे ट्रोल्‍स को बढ़ावा देते हैं।


अब उसी निखिल दधीच की एक तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है जिसमें वो सूचना एवं प्रसारण मंत्री स्मृति ईरानी के साथ नजर आ रहा है। इस तस्वीर को समाजवादी पार्टी की प्रवक्ता पंखुरी पाठक ने भी अपने ट्विटर अकाउंट से शेयर किया है।

भाजपा और संघ के निशाने पर थीं पत्रकार गौरी लंकेश

आपको बता दें कि, निखिल दधीच का ट्वीट वायरल होने के बाद उसने अपने ट्वीट को डिलीट कर दिया था लेकिन उसके ट्वीट का स्क्रीनशॉट सोशल मीडिया पर वायरल हो रह है। निखिल दधीच ने गौरी लंकेश की हत्या पर बेहद शर्मनाक शब्दों का इस्तेमाल करते हुए लिखा था कि एक कुतिया की मौत क्या मरी सारे पिल्ले एक सुर में बिलबिला रहे हैं। गाय को माँ का सम्मान देने वाले भारतीय से एक महिला जो कि किसी की माँ होगी के लिए ऐसे अपमान जनक शब्द ने देशवासियों को सोचने पर मजबूर कर दिया है कि आखिर आज का नौजवान किस दिशा में जा रहा है ? केंद्र में सत्ताधारी पार्टी भाजपा और उसका सहयोगी संगठन संघ देश के नौजवानों को किस दिशा में लेकर जा रहा है। देश के प्रधान मंत्री का ऐसे लोगों को फॉलो करने और इस मामले पर पीएमओ की चुप्पी से ऐसे कुंठित लोगों को मूक समर्थन मिल रहा है। अहिंसा की बात करने वाले हिंसा का समर्थन कर रहे है यह देश के भविष्य के लिए खतरा है।

Previous
Next

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*