Skip to Content

आजमगढ़: पत्रकार गौरी लंकेश की हत्या के विरोध में पत्रकार संगठनों ने किया प्रदर्शन, प्रशासन को सौंपा ज्ञापन

आजमगढ़: पत्रकार गौरी लंकेश की हत्या के विरोध में पत्रकार संगठनों ने किया प्रदर्शन, प्रशासन को सौंपा ज्ञापन

Be First!

अब्दुल्लाह शेख।

आजमगढ़। पत्रकार गौरी लंकेश की हत्या के विरोध में आज उत्तर प्रदेश के जिला आजमगढ़ में पत्रकार संगठनों ने विरोध प्रदर्शन किया और अपर जिलाधिकारी को राष्ट्रपति के लिए ज्ञापन सौंपा।  भारत की पत्रकारिता आज काफी कठिन दौर से गुजर रही है। अपने पत्रकारी कर्म को अंजाम देेने के लिए देश के विभिन्न हिस्सों में दर्जनों पत्रकारों ने अपने प्राणों की आहूति दी है, लेकिन वह अपने कर्तव्यों से कभी पीछे नहीं हटे। इसी क्रम में कन्नड़ भाषी पत्रिका लंकेश की सम्पादक एवं वरिष्ठ पत्रकार सुश्री गौरी लंकेश को भी विगत 5 सितम्बर, 2017 की शाम अपने प्राणों की आहुति देनी पड़ी। जब वह अपने घर लौट रही थीं तो उनकी चैखट पर ही बाइक सवार तीन बदमाशों ने गोलियों से भूनकर उनकी नृशंस हत्या कर दी। सुश्री लंकेश की हत्या से पत्रकार एवं बुद्धिजीवी काफी मर्माहत हुए, उनकी हत्या से पूरे देश के पत्रकारों एवं बुद्धिजीवियों में उबाल आ गया है और वह जगह-जगह इस घटना के प्रतिरोध मेें धरना, प्रदर्शन एवं जुलूस निकाल रहे हैं।आजमगढ़। पत्रकार गौरी लंकेश की हत्या के विरोध में आज उत्तर प्रदेश के जिला आजमगढ़ में पत्रकार संगठनों ने विरोध प्रदर्शन किया और अपर जिलाधिकारी के को राष्ट्रपति के लिए ज्ञापन सौंपा।  भारत की पत्रकारिता आज काफी कठिन दौर से गुजर रही है।

अपने पत्रकारी कर्म को अंजाम देेने के लिए देश के विभिन्न हिस्सों में दर्जनों पत्रकारों ने अपने प्राणों की आहूति दी है, लेकिन वह अपने कर्तव्यों से कभी पीछे नहीं हटे। इसी क्रम में कन्नड़ भाषी पत्रिका लंकेश की सम्पादक एवं वरिष्ठ पत्रकार सुश्री गौरी लंकेश को भी विगत 5 सितम्बर, 2017 की शाम अपने प्राणों की आहुति देनी पड़ी। जब वह अपने घर लौट रही थीं तो उनकी चैखट पर ही बाइक सवार तीन बदमाशों ने गोलियों से भूनकर उनकी नृशंस हत्या कर दी। सुश्री लंकेश की हत्या से पत्रकार एवं बुद्धिजीवी काफी मर्माहत हुए, उनकी हत्या से पूरे देश के पत्रकारों एवं बुद्धिजीवियों में उबाल आ गया है और वह जगह-जगह इस घटना के प्रतिरोध मेें धरना, प्रदर्शन एवं जुलूस निकाल रहे हैं। इसी क्रम में आज आजमगढ़ जनपद के पत्रकारों की एक बैठक तमसा पत्रकार सभागार में आयोजित की गयी, जिसमें वक्ताओं ने दोनों घटनाओं की कड़ी से कड़ी निन्दा करते हुए महामहिम राष्ट्रपति को सम्बोधित चार सूत्रीय ज्ञापन देने का निर्णय लिया। बैठक के बाद पत्रकारों ने मुंह पर कालीपट्टी बांधकर जुलूस के रूप में कलेक्ट्रेट चैराहे पर पहुँचा और वहां से जिलाधिकारी कार्यालय पहुँच जिलाधिकारी के प्रतिनिधि अपर जिलाधिकारी प्रशासन श्री लवकुश त्रिपाठी को ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में मांग की गयी है कि स्व0 गौरीलंकेश के हत्यारों और यशवन्त सिंह के हमलावरों को शीघ्र गिरफ्तार कर उनके खिलाफ कार्यवाही की जाय।

पत्रकारों से सम्बन्धित मामलों की त्वरित सुनवाई विशेष अदालतों में कर शीघ्रातिशीघ्र न्याय दिलाया जाय और पत्रकारों के सुरक्षा हेतु कानून बनाया जाय, जिससे वह अपना कार्य निर्भय होकर कर सके।  इस अवसर पर विजय कुमार देवव्रत, सुभाष चन्द सिंह, अरविन्द सिंह, हेमेन्द्र सिंह ‘हीरू’, आनन्द गुप्ता, संतोष उपाध्याय, अब्दुल्लाह शेख, गौरव श्रीवास्तव, सचिन श्रीवास्तव, विवेक गुप्ता, अच्युतानन्द त्रिपाठी, विवेक उपाध्याय, हरीश कुमार, अभिमन्यु शर्मा, देवव्रत श्रीवास्तव, रवि प्रकाश सिंह, उदयराज शर्मा, रामसिंह यादव, ज्ञानेन्द्र कुमार, शमशाद अहमद, खुर्रम आलम नोमानी, प्रशान्त राय, दिनेश कुमार श्रीवास्तव, धर्मेन्द्र श्रीवास्तव, रामदरश सिंह, हाकर संघ के जिलाध्यक्ष जगदीश यादव, उ0प्र0 माध्यमिक शिक्षक संघ के महामंत्री इन्द्रासन सिंह, जेपी नरायन, रविन्द्र नाथ राय, दिलीप अग्रवाल आदि लोग उपस्थित थे।

Previous
Next

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*