Skip to Content

डेढ़ लाख शिक्षा मित्रों के दिल्ली पहुँचने से यातायात व्यवस्था चरमराई, घंटों लोग जाम में फंसे

डेढ़ लाख शिक्षा मित्रों के दिल्ली पहुँचने से यातायात व्यवस्था चरमराई, घंटों लोग जाम में फंसे

Be First!

नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश से चल कर दिल्ली के जंतर मंतर पहुंचे लगभग डेढ़ लाख शिक्षामित्रों ने केंद्र सरकार के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है। दस हज़ार मानदेह पाने से नाराज़ शिक्षा मित्र लम्बे समय से मानदेह बढ़ाने की मांग कर रहे हैं लेकिन सरकारी महकमा इनकी बातों को नज़रअंदाज़ करता रहता है। जिसके कारण अब शिक्षामित्रों ने दिल्ली का रूख किया है।
दस हजार रुपये मानदेय से असंतुष्‍ट शिक्षामित्रों ने राजधानी के जंतर मंतर पर विशाल प्रदर्शन किया। तकरीबन सवा लाख शिक्षामित्रों के यहां पहुंचने से आसपास के इलाके में जाम की स्थिति बन गई। ट्रेनों और बसों से इतनी बड़ी संख्या में शिक्षामित्रों के पहुंचने से पुलिस प्रशासन की सांस फूल गई। सुबह आठ बजे ही जंतर मंतर पर हजारों की भीड़ के बाद प्रशासन ने बैरीकेडिंग लगाकर जंतर मंतर के चारों तरफ की सड़कों को अवरुद्ध कर दिया।
शिक्षा मित्रों में उत्तर प्रदेश की योगी सरकार के खिलाफ आक्रोश साफ दिख रहा था। राजधानी में यूपी के दूर-दूर के इलाकों से शिक्षा मित्र बसों, ट्रेनों और अन्य वाहनों से भरकर जंतर मंतर पर जुटे हैं। जंतर मंतर की सड़क पूरी भर जाने के बाद आसपास के फुटपाथ में भी सभी प्रदर्शन के लिए बैठ गए। बीती 25 जुलाई को सुप्रीम कोर्ट द्वारा शिक्षामित्रों का समायोजन रद्द करने के बाद प्रदेश भर के शिक्षामित्र सड़क पर हैं। सुप्रीम कोर्ट ने उत्तर प्रदेश में 1.36 लाख शिक्षामित्रों की सहायक अध्यापक के रूप में नियमितीकरण को गैरकानूनी ठहरा दिया था।
इसके बाद उन्‍हें योगी सरकार से अच्‍छे वेतन पर शिक्षामित्र के रूप में ही बहाल रखने की उम्‍मीद थी। प्रदेश सरकार की तरफ से आश्वासन के बावजूद कोई कार्यवाही न होने से शिक्षामित्रों में आक्रोश व्याप्त हो गया।

Previous
Next

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*