Skip to Content

मुंबई: उन किरदारों को अदा करने में आनंद नहीं आता जो आसान होते हैं- राजकुमार राव

मुंबई: उन किरदारों को अदा करने में आनंद नहीं आता जो आसान होते हैं- राजकुमार राव

Be First!
गुलिस्तां, नेटवर्क।

मुंबई। अभिनेता राजकुमार राव ने कहा है कि उन्हें उन किरदारों को पर्दे पर अदा करना पसंद है जो उनकी अभिनय क्षमता की परीक्षा लेते हैं क्योंकि आसानी से होने वाली चीजों में उन्हें आनंद नहीं आता। अभिनेता ‘शाहिद’, ‘क्वीन’, ‘अलीगढ़’, ‘ट्रैप्ड’, ‘बरेली की बर्फी’ और ‘न्यूटन’ में अपने दमदार अभिनय के लिए जाने जाते हैं। राव ने बताया, “मुझे वह चीजें पसंद नहीं हैं जो आसानी से हो जाती हैं। एक अभिनेता के तौर पर मैं सीमा से आगे खुद को खींचना पसंद करता हूं। मुझे उन किरदारों को पर्दे पर अदा करना अच्छा लगता है जो मुझे चुनौती देते हैं और जिसमें मैं कुछ अलग कर पाता हूं। इसी में मुझे आनंद आता है।” ‘ओमेर्टा’ में आतंकवादी अहमद ओमर सईद शेख का किरदार अदा करने वाले राव के लिए यह फिल्म बेहद चुनौतीपूर्ण रही।

उन्होंने बताया, “अब तक मैंने जितने किरदार अदा किए, उनसे मैं किसी न किसी तरह खुद को जोड़ सकता था लेकिन मैं इस दुनिया को तो बिल्कुल ही नहीं जानता था। मैं शेख जैसे किसी भी व्यक्ति को नहीं जानता था। इसलिए खुद के भीतर से ही सारी चीजें लानी थी। मुझे पता था कि ओमर के भीतर काफी गुस्सा और नफरत थी जिसे अभिनय में लाना बेहद मुश्किल था। इस तरह का नफरत वाला किरदार अदा करना मुश्किल है।” ‘ओमेर्टा’ सिनेमाघरों में शुक्रवार को रिलीज हो रही है।
Previous
Next

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*