Skip to Content

IAAF नियम: बदलाव के बाद डायमंड लीग के जरिये वापसी करेगी सेमेन्या

IAAF नियम: बदलाव के बाद डायमंड लीग के जरिये वापसी करेगी सेमेन्या

Be First!

दोहा। उच्च टेस्टोस्टेरोन स्तर वाली महिला खिलाड़ियों के लिये आईएएएफ के नये नियम के बाद अब कास्टर सेमेन्या शुरू हो रही डायमंड लीग के जरिये ट्रैक पर वापसी करेगी। दक्षिण अफ्रीका की दोहरी ओलंपिक 800 मीटर चैम्पियन सेमेन्या 1500 मीटर में उतरेगी। नियम में बदलाव के बाद यह उसकी पहली प्रतिस्पर्धा है। अपनी बलशाली कद काठी और गहरी आवाज के कारण सेमेन्या हमेशा से विवादों के घेरे में रही। हाइपरएंड्रोजीनिज्म के कारण उसके शरीर में पुरूष सेक्स हार्मोंस ज्यादा बनते हैं। एक नवंबर से लागू होने जा रहे नये नियम के तहत वे ही खिलाड़ी अब प्रतिस्पर्धा में भाग ले सकेंगे जो टेस्टोस्टेरोन का स्तर दवाओं के जरिये कम करेंगे। सेमेन्या ने हाल ही में राष्ट्रमंडल खेलों में 800 और 1500 मीटर में स्वर्ण पदक जीता है।

मौजूदा ओलंपिक चैम्पियन जर्मका की एलेन थाम्पसन महिलाओं की 100 मीटर दौड़ में नीदरलैंड की ओलंपिक रजत पदक विजेता डाफने शिपर्स को चुनौती देंगी। इनमें 100 और 200 मीटर की विश्व रजत पदक विजेता आइवरी कोस्ट की मारी जोसी ता लोउ होंगी। पुरूषों के 200 मीटर में मौजूदा विश्व चैम्पियन तुर्की के रामिल गुलियेव, ओलंपिक रजत पदक विजेता कनाडा के आंद्रे डे ग्रासे, 2017 डायमंड लीग चैम्पियन अमेरिका के नोआ लाइलेस और विश्व चैम्पियनशिप कांस्य पदक विजेता त्रिनिदाद और टोबैगो के जेरीम रिचडर्स भी होंगे।
Previous
Next

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*