Skip to Content

GULISTAN

SACH K SATH SADA…..

देवरिया : सरे राह युवा डाक्टर खालिद की गोली मार कर हत्या, क्षेत्र में बवाल, स्थिति काबू में

देवरिया : सरे राह युवा डाक्टर खालिद की गोली मार कर हत्या, क्षेत्र में बवाल, स्थिति काबू में

Be First!

आजमगढ़। उत्तर प्रदेश में लचर कानून व्यवस्था के कारण अपराधियों के हौसले इतने बुलंद है कि वह रात और दिन नहीं देख रहे हैं। जनता में भय का माहौल ब्याप्त है। आज एक नौजवान डाक्टर खालिद की उस समय गोली मार कर हत्या कर दी गयी जब वह अस्पताल से अपने घर जा रहे थे।
देवरिया जिले के कुशीनगर के पटहेरवा थाना क्षेत्र के बेलवा आलम दास गांव निवासी 35 वर्षीय डॉ. अब्दुल खालिद सखनी न्यू पीएचसी पर तैनात थे। सोमवार को ड्यूटी समाप्त कर कार से गांव जा रहे थे। साथ में फार्मासिस्ट आदित्यनाथ तिवारी भी थे।
डॉक्टर अब्दुल खालिद गोरखपुर के रहने वाले हैं। वह रोज बघौचघाट तक चिकित्सक के साथ कार से जाते हैं। वहां से बस से गोरखपुर रवाना होते हैं। दिन में करीब 2.15 बजे चिकित्सक की कार सखनी नहर मोड़ पर पहुंची तो हेलमेट लगाए दो बाइक सवारों ने हाथ देकर गाड़ी को रुकवाया। कार रुकते ही एक बदमाश ने गोली चला दी।

गोली डॉक्टर खालिद के बाएं बाजू में जा घंसी। चिकित्सक जान बचाने के लिए कार से उतरकर पैदल भागने लगे तो बदमाशों ने दौड़ाकर पीठ में गोली मार दी। इससे उनकी मौके पर ही मौत हो गई। घटना को अंजाम देने के बाद बदमाश असलहा लहराते हुए बद्यौचघाट की ओर भाग गए। वहीं कार में सवार फार्मासिस्ट को बदमाशों ने कुछ नहीं किया।
गोली की आवाज सुनकर गांव वालों की भीड़ जुट गई। काफी देर बाद मौके पर पहुंचे बघौचघाट प्रभारी एसओ विनय सिंह ने शव को ले जाने के लिए जीप में रख लिया। यह देख गांव वाले उग्र हो गए। एसओ पर सूचना के बावजूद देर से आने का आरोप लगाते लोगों ने जीप को क्षतिग्रस्त कर दिया। सीओ संदीप सिंह को गांव वाले कुछ देर तक घेरे रहे। नाराज लोग बदमाशों की गिरफ्तारी की मांग पर अड़े रहे। बाद में सीओ किसी तरह भीड़ से बाहर निकले।

हत्या की खबर मिलते ही चिकित्सक के ससुर व कुशीनगर के सपा जिलाध्यक्ष इलियास अंसारी और व घर वाले मौके पर पहुंच गए। मामला बढ़ता देख कई थानों की पुलिस पहुंच गई। शाम 5 बजे डीएम और एसपी ने सड़क जाम किए लोगों से वार्ता कर कार्रवाई करने और बदमाशों की गिरफ्तारी का आश्वासन दिया। देर से पहुंचने पर प्रभारी एसओ को एसपी ने लाइन हाजिर कर दिया।

इसके बाद लोग शांत हुए और 5.30 बजे पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। इस वजह से साढ़े तीन घंटे तक आवागमन प्रभावित रहा। एसपी राकेश शंकर ने बताया कि प्रभारी एसओ के देर से पहुंचने और बिना पंचनामा भरे लाश को कब्जे में लेने से लोग आक्रोशित हो गए। प्रभारी एसओ को लाइन हाजिर कर दिया गया है। घर वालों से तहरीर देने की बात कही गई है। तहरीर मिलते ही केस दर्ज किया जाएगा। बदमाशों की गिरफ्तारी के लिए कई टीमें लगाई गई हैं।

Previous
Next

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*