Skip to Content

अतरौलिया: उपमुख्य मंत्री केशव प्रसाद मौर्य से क्षेत्रवासियों को थीं ढेर सारी उम्मीदें, हाथ लगी निराशा

अतरौलिया: उपमुख्य मंत्री केशव प्रसाद मौर्य से क्षेत्रवासियों को थीं ढेर सारी उम्मीदें, हाथ लगी निराशा

Be First!
गुलिस्तां, नेटवर्क।

आजमगढ़ /अतरौलिया। समाजवादियों के गढ़ अतरौलिया में प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य के स्वागत के लिए लालयित क्षेत्रवासियों को निराशा हाथ लगी। जनता को उम्मीद थी कि मौर्य अतरौलिया की धरती पर अपने प्रथम आगमन पर कुछ सौगात ज़रूर देंगें लेकिन जाते – जाते जनता को उदासी और निराशा के सिवा कुछ नहीं मिला। चिलचिलाती धुप में लम्बे समय से जनता इंज़ार करके बेजार हो रही थी बावजूद इसके अगर कुछ भी न मिले तो जनता का गुस्सा फूटना जायज है।

शिक्षकों और समाजवादी नेताओं के पुलिस द्वारा अभद्र व्यवहार किया गया जिसके कारण क्षेत्रवासियों में आक्रोश दिखाई दिया। जहां पर उप मुख्यमंत्री का कार्यक्रम लगा हुआ था उसके समीप ही भोराजपुर खुर्द के ग्राम प्रधान ने गांव की 2 सड़कों पर जलजमाव होने के कारण दोनों सड़कों पर क्रम से 400 और 300 मीटर नाली बनवाने तथा गांव में सार्वजनिक स्थानों के अभाव के कारण सामुदायिक मिलन केंद्र बनवाने तथा भीषण गर्मी में पेयजल संकट की दूर करने हेतु इंडिया मार्का हैंडपंप लगवाने का ज्ञापन सौंप, तो वही भीउरा ग्रामसभा  में राष्ट्रीय राजमार्ग 233 द्वारा बाईपास निर्माण की वजह से ग्राम सभा का मुख्य मार्ग बंद हो गया है। जिसके लिए गांव के लोग मिलकर गांव की सड़क को सुचारु रुप से चालू कराने की मांग की, इनके अलावा उत्तर प्रदेश ग्राम रोजगार सेवक संघ द्वारा अपनी न्यूनतम मानदेय संबंधित ज्ञापन दिए, तथा अति पिछड़ी समाज के राजेंद्र प्रसाद निषाद ने कल्याण सिंह के मुख्यमंत्रित्व काल में निषादराज गुह की मूर्ति भेजी गई थी जो आज भी बंद पेटी में पड़ी है जिसे लगवाने की मांग की है।

झलकियां

केशव प्रसाद मौर्य के कार्यक्रम स्थल पर पानी के लिए लोग दर दर भटकते देखे गए हालांकि पेयजल की नगर पंचायत टाउन एरिया द्वारा दो पेयजल टैंकर लगाया गया था फिर भी लोग पानी के लिए इधर उधर देख रहे थे ।
भीषण गर्मी में ड्यूटी करना हुआ मुहाल, चिलचिलाती धूप के दौरान पुलिसकर्मी जनता के लिए लगाए गए टेंटों में आकर बैठे तो मंच से आदेश हुआ कृपया पुलिसकर्मी कुर्सी छोड़ दें और कार्यक्रम में उपस्थित महिलाओं को कुर्सी दे जिस पर छाया के लिए पंडाल में बैठे पुलिसकर्मी पंडाल छोड़कर पुणे धूप में जाकर खड़े हुए और अपने दायित्व का निर्वहन करने लगे।

 हेलीकॉप्टर देखने के लिए बच्चों में था उत्साह ,

केशव प्रसाद मौर्या का हेलीकॉप्टर जैसे ही सभा स्थल के ऊपर मंडराने लगा लोग हेलीकॉप्टर का लैंडिंग तथा टेकऑफ देखने के लिए हेलीपैड पर दौड़ पड़े जनता को देख पुलिसकर्मी भी मोर्चा संभालते हुए लोगों को हैलीफैंट से दूर किये।

 प्रेस दीर्घा में था क्षेत्रीय नेताओं  का कब्जा।

कार्यक्रम में समाचार संकलन करने हेतु प्रेस दीर्घा बनाई तो गई थी मगर उस पर क्षेत्रीय नेताओं का कब्जा था जिससे मीडिया कर्मी खड़े-खड़े समाचार संकलन कर रहे थे कि भाजपा नेता जयनाथ सिंह व रमाकांत मिश्रा की नजर खड़े मीडिया कर्मियों पर पड़ी तो उन्होंने अलग से कुर्सी मंगवाकर मीडिया के बैठने की व्यवस्था की ।
मंच पर चढ़ने के लिए हो रही थी जोराजोरी। सभा स्थल के मुख्य मंच पर पहुंचने के लिए नेताओं में जोरा जोरी की हर नेता एक दूसरे से बड़ा साबित करने के लिए मंच पर पहुंचने की जुगत में था मगर सुरक्षा व्यवस्था में लगे कर्मचारी बिना किसी पास के लोगों को मंच पर नहीं चढ़ने दे रहे थे

Previous
Next

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*