Skip to Content

हड़ताल : 13 अक्टूबर को पेट्रोल पम्प मालिकों की देशव्यापी हड़ताल, 9 अक्टूबर  से 36 घंटे के लिए ट्रक मालिक करेंगे चक्का जाम

हड़ताल : 13 अक्टूबर को पेट्रोल पम्प मालिकों की देशव्यापी हड़ताल, 9 अक्टूबर से 36 घंटे के लिए ट्रक मालिक करेंगे चक्का जाम

Be First!

नई दिल्ली। प्रतिदिन डीजल और पेट्रोल की बढ़ती कीमतों से परेशान सिर्फ आम नागरिक ही नहीं हैं बल्कि पम्प मालिकों को भी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। इस लिए 13 अक्टूबर को पेट्रोल पम्प मालिकों ने देशव्यापी हड़ताल करने का निर्णय लिया है। बताया जा रहा है कि अपनी विभिन्न मांगों को लेकर पेट्रोल पंप मालिक हड़ताल पर जाने की ऐलान किया है। वहीं ट्रक मालिकों और संचालकों ने शनिवार को वस्तु एवं सेवा कर (जीएसटी) के तहत विघटनकारी नीतियों के खिलाफ प्रदर्शन किया और नए अप्रत्यक्ष कर के तहत डीजल को लाने की मांग की।
बताया जा रहा है कि शुक्रवार यानि 13 अक्टूबर को देशभर के 54000 पेट्रोल पंप बंद रहेंगे। ये लोग अपनी कई मांगों को लेकर एक दिन के हड़ताल पर जाने का ऐलान किया है। ट्रक मालिकों और संचालकों ने 36 घंटों के राष्ट्रव्यापी हड़ताल का आह्वान किया, जो नौ अक्टूबर को सुबह आठ बजे से शुरू होगी।
कलकत्ता गुड्स ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन के अध्यक्ष प्रभात कुमार मित्तल ने प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान कहा, जीएसटी लागू होने के बाद परिवहन व्यवसाय बुरी तरह से प्रभावित हुआ है। ऑल इंडिया मोटर ट्रांसपोर्ट कांग्रेस और अन्य ट्रांसपोर्ट एसोसिएशनों ने दो दिनों की सांकेतिक राष्ट्रीय हड़ताल का आह्वान किया है, जो नौ अक्टूबर (सोमवार) को सुबह आठ बजे से शुरू होगी और 10 अक्टूबर को शाम आठ बजे खत्म होगी। हम भी इसका समर्थन करते हैं।
उन्होंने कहा कि जीएसटी के तहत विभिन्न नीतियों के कारण सड़क परिवहन क्षेत्र में बहुत भ्रम और विघटन पैदा हुआ है। उन्होंने कहा, डीजल मूल्य में अत्यधिक वृद्धि और कीमतों में रोजाना उतार-चढ़ाव सड़क परिवहन क्षेत्र को प्रभावित कर रहा है। डीजल और टोल पर किया जानेवाला खर्च ट्रक के परिचालन खर्च के 70 फीसदी से भी अधिक है, जबकि डीजल को ही जीएसटी के अंतर्गत नहीं रखा गया है। पेट्रोल पम्प मालिकों का कहना है कि डीजल और पेट्रोल को भी जीएसटी के अंतर्गत लाया जाय जिससे की पूरे देश में एक भाव से तेल की बिक्री किया जाए। इससे देश के आम नागरिकों को फायदा पहुंचेगा और व्यापरी भी संतुष्ट रहेंगें।

Previous
Next

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*