Skip to Content

सावधान! प्रॉपर्टी खरीदने से पहले निम्न बातो का रखें ध्यान

सावधान! प्रॉपर्टी खरीदने से पहले निम्न बातो का रखें ध्यान

Be First!
गुलिस्तां, नेटवर्क।

प्रॉपर्टी खरीदने में हेरा फेरी और ठगी के मामले आये दिन सामने आते रहते हैं। उसके बारे में यह जानना ज़रूरी है की प्रॉपर्टी खरीदते समय ठगी से कैसे बचा जाये?
मैं आप को संछिप्त में प्रॉपर्टी खरीदते समय की सावधानियों से अवगत कराता हूँ , जिससे की भविष्य में आप के साथ कोई ठगी या धोखा धड़ी न कर सके।
अगर आप प्रॉपर्टी किसी प्राधिकरण की सम्पत्ति खरीद रहे हैं तो प्रॉपर्टी खरीदने से पहले जो प्रॉपर्टी ब्रोकर या बेचने वाले ने दिखाया है उस प्रॉपर्टी और उसके सही मालिक की जानकारी के लिए उस प्राधिकरण के कार्यालय में जाएँ, जहाँ से प्रॉपर्टी का आवंटन किया गया है।
वहां से निम्न बातों की जानकारी हासिल करें –
1- सम्पत्ति किसके नाम से आवंटित हुयी है ? (उसके फोटो से बेचने वाले के फोटो का मिलान करें)
२- सम्पत्ति का आवंटन कब हुआ है ?
3- सम्पत्ति का कोई बकाया तो नही है?
4- सम्पत्ति का लीजरेंट कब तक जमा है ?(अगर सम्पत्ति लीज होल्ड है तो)
5- सम्पत्ति की लीज डीड हुयी है या नही ?
6- सम्पत्ति का कब्ज़ा पत्र, पानी व सीवर का कनक्शन हुआ है या नही ?
7- अगर नगर निगम है तो सम्पत्ति का हॉउस टैक्स जमा है या नहीं ?
८- सम्पत्ति पर किसी बैंक या निजी संस्था से कोई कर्ज (लोन ) तो नही
9 – सम्पत्ति पर कोई विवाद तो नहीं है ?
अगर प्रॉपर्टी (सम्पत्ति ) किसी प्राधिकरण की नहीं है तो उस सम्पत्ति के विषय में सम्पत्ति की नकल लेकर आप तहसील पर जा कर लेखपाल या तहसीलदार से जानकारी हासिल कर सकते हैं।

ध्यान दें- प्राधिकरण की सम्पत्ति पहले आपके नाम से ट्रांसफर होगी फिर रजिस्ट्रार कार्यालय से रजिस्ट्री होगी और फ्री होल्ड सम्पत्ति में पहले रजिस्ट्री होती है फिर ट्रांसफर (दाखिल ख़ारिज ) मतलब बेचने वाले का नाम काट कर आप (खरीदार) का नाम दर्ज किया जायेगा।
सम्पत्ति खरीदते समय जल्द बाजी न करें। सम्पत्ति की पूरी तहकीकात करके क़ानूनी जानकारों से सहायता लेकर ही खरीदारी करें। पैसे का लेन – देन बैंक के द्वारा ही करें।

Previous
Next

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*