Skip to Content

हरिद्वार: प्रेम प्रसंग में हुई हत्या से क्षेत्र में तनाव, 17 मुस्लिम परिवार गाँव छोड़ कर भागे

हरिद्वार: प्रेम प्रसंग में हुई हत्या से क्षेत्र में तनाव, 17 मुस्लिम परिवार गाँव छोड़ कर भागे

Be First!

नई दिल्ली। उत्तराखंड के हरिद्वार में प्रेम प्रसंग के कारण हुई हत्या के बीच हिंसा और आगजनी की घटनाओं से इलाके में दहशत है। हरिद्वार के निकट मुर्गी फार्म इलाके के गांव में रहनेवाले सभी 17 मुस्लिम परिवार गांव छोड़कर भाग खड़े हुए हैं।

यहां एक हिन्दू ड्राइवर की हत्या किए जाने के बाद से तनाव है। इसी गांव की 19 साल की एक मुस्लिम लड़की 32 वर्षीय ड्राइवर लक्षमण सिंह कालुरा से प्रेम करती थी। पुलिस ने लड़की के पिता और भाई को ड्राइवर की हत्या के आरोप में गिरफ्तार कर लिया है। हरिद्वार से 13 किलोमीटर दूर रेलवे ट्रैक पर रेलवाला टाउन के पास ड्राइवर की लाश मिली थी। उसके पैर कटे हुए थे। ड्राइवर कालुरा टिहरी फार्म का रहने वाला था और मुर्गी फार्म में वो अपनी प्रेमिका से मिलने गया हुआ था। ये गोनों गांव रेलवाला टाउन के तहत आते हैं।

रेलवाला थाने के एसएचओ आशीष गुसाईं ने इंडियन एक्सप्रेस को बताया कि कालुरा 3 अक्टूबर की रात अपनी प्रेमिका से मिलने मुर्गी फार्म गया था। एसएचओ गुसाईं के मुताबिक, लड़की के पिता ने पहले भी दोनों के बीच प्रेम प्रसंग खत्म करने की कोशिश की थी, बावजूद इसे कालुरा 3 अक्टूबर को लड़की से मिलने मुर्गी फार्म जा पहुंचा। इसके बाद उन कालुरा और लड़की के पिता के बीच तीखी बहस हुई। बाद में उसी रात कालुरा की लाश रेलवे ट्रैक के पास मिली।

रेलवाला इलाके में अभी भी तनाव है। प्रशासन ने वहां एक सप्ताह पहले ही धारा 144 लगा दिया है। बता दें कि 6 अक्टूबर को सोशल मीडिया पर एक संदेश वायरल हुआ था, जिसमें एक हिन्दू युवक की हत्या का जिक्र था। एसएचओ के मुताबिक, यह संदेश फर्जी था, ताकि इलाके में उपद्रव फैलाया जा सके। बावजूद इसके इस संदेश के बाद उपद्रवियों ने रेलवाला से करीब 15 किलोमीटर दूर कनखल में मुस्लिमों की चार दुकानों को आग के हवाले कर दिया। उसी दिन रेलवाला से 13 किलोमीटर दूर ऋषिकेश में भी मुस्लिम की एक अस्थाई दुकान और बैलगाड़ी को उपद्रवियों ने आग लगा दी।

पुलिस अधिकारी ने इंडियन एक्सप्रेस को बताया कि ड्राइवर की हत्या के बाद लड़की और उसके घरवाले गांव छोड़कर वहां से करीब 60 किलोमीटर दूर सिकरोदा भाग खड़े हुए। इसके बाद मुर्गी फार्म के अन्य मुस्लिम परिवार भी अगले ही दिन गांव छोड़कर भागने लगे। उन्होंने बताया कि पुलिस इलाके में गश्त कर रही है ताकि वहां किसी तरह की हिंसा और आगजनी न हो सके। हरिद्वार के एएसपी मंजूनाथ टीसी ने भी मुस्लिमों द्वारा घर छोड़े जानी की घटना की पुष्टि की है।

Previous
Next

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*