Skip to Content

भारत में पेरोल विवरण – एक औपचारिक रोजगार परिदृश्‍य   

भारत में पेरोल विवरण – एक औपचारिक रोजगार परिदृश्‍य   

Be First!
नई दिल्ली। ख्यिकी एवं कार्यक्रम क्रियान्‍वयन मंत्रालय के केन्‍द्रीय सांख्यिकी कार्यालय (सीएसओ) ने देश में रोजगार परिदृश्‍य पर एक रिपोर्ट जारी की है, जिसमें सितंबर, 2017 से लेकर मार्च, 2018 तक की अवधि को कवर किया गया है। यह रिपोर्ट कुछ विशेष आयामों में हुई प्रगति के आकलन के लिए चुनिंदा सरकारी एजेंसियों के पास उपलब्‍ध प्रशासनिक अभिलेखों पर आधारित है।

     यह रोजगार संबंधी आंकड़ों की इस श्रृंखला में दूसरा भाग है। मंत्रालय ने अप्रैल, 2018 में औपचारिक क्षेत्र में रोजगार संबंधी आंकड़ों की प्रथम रिपोर्ट जारी की थी, जिसमें सितंबर, 2017 से लेकर फरवरी, 2018 तक की अवधि को कवर किया गया था। इसके अंतर्गत तीन प्रमुख योजनाओं यथा कर्मचारी भविष्‍य निधि (ईपीएफ), कर्मचारी राज्‍य बीमा स्‍कीम और राष्‍ट्रीय पेंशन स्‍कीम (एनपीएस) के तहत लाभ उठाने वाले सदस्‍यों की संख्‍या से जुड़ी सूचनाओं का उपयोग किया गया है। इस विज्ञप्ति में मंत्रालय ने महात्‍मा गांधी राष्‍ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना (मनरेगा) के तहत सृजित कार्य संबंधी श्रम दिवसों से जुड़ी सूचनाओं को भी शामिल किया है।

जैसा कि पिछली श्रृंखला में उल्‍लेख किया गया है रोजगार के स्तर विभिन्न स्रोतों से हैं, इसमें ओवरलैप के भी अवयव हैं और अनुमान योगात्‍मक नहीं हैं। सितंबर, 2017 से लेकर मार्च, 2018 तक की अवधि के लिए विस्‍तृत सूचना संबंधित संगठनों की वेबसाइटों पर अलग से उपलब्‍ध कराई गई हैं। यह सूचना सदस्‍यों की संख्‍या पर आधारित है। चूंकि योजनाओं में पहले भुगतान करने की व्‍यवस्‍था है, इसलिए संबंधित तालिकाएं गतिशील स्थिति को प्रतिबिंबित करती हैं।

रोजगार परिदृश्‍य से संबंधित विस्‍तृत जानकारी से अवगत होने के लिए अंग्रेजी का अनुलग्‍नक यहां क्लिक करें    

***

वीके/एएम/आरआरएस/वाईबी–8685

 

Previous
Next

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*