Skip to Content

सर्वे: अस्सी प्रतिशत जनता नोटबंदी के खिलाफ, मंत्री ने कहा कि वेश्यावृत्ति रुकी है

सर्वे: अस्सी प्रतिशत जनता नोटबंदी के खिलाफ, मंत्री ने कहा कि वेश्यावृत्ति रुकी है

Be First!

नई दिल्ली। कांग्रेस पार्टी ने आज देश भर में काला दिवस मनाया और मोदी की नोटबंदी को लोकतंत्र पर हमला करार दिया। देश के अलग – अलग राज्यों में कांग्रेस पार्टी नोटबंदी के खिलाफ केंद्र सरकार का पुतला फूंका और विरोध प्रदर्शन किया। गिरती हुयी अर्थव्यवस्था को नोटबंदी का कारण बताया गया। जगह – जगह हुए मिडिया के सर्वे में नोटबंदी पूरी तरह से असफल योजना बताया गया है।

जवजीवन वेबसाइट के अनुसार भारत के ८० प्रतिशत लोग नोटबंदी के खिलाफ थे। वेब साईट लिखती है कि सत्ता के गलियारों में चहलकदमी करने वालों को छोड़कर सबका मानना है कि नोटबंदी एक बहुत बड़ी आपदा थी। लेकिन अब इस बात के समर्थन में कुछ और आंकड़े आ गए हैं। 21 राज्यों और 32 संगठनों द्वारा किये गए एक सर्वे से पता चला है कि 80% लोग इस कदम के खिलाफ थे और बाकी 20% या तो समर्थन में थे या भ्रमित थे।जनवरी के पहले सप्ताह में शुरू हुए इस सर्वे से पता चला है कि 55% लोग प्रधानमंत्री के उस बयान से सहमत नहीं हैं जिसमें उन्होंने कहा था कि नोटबंदी ने संपूर्ण कालेधन का खात्मा कर दिया है। मंगलवार को ‘डीमोनेटाइजेशन- एक्सॉर्साइजिंग द डेमन ‘ शीर्षक से रिपोर्ट जारी करते हुए इसके लेखकों में से एक गौहर रजा ने कहा, ‘’अध्ययन में शामिल सिर्फ 26.6 प्रतिशत लोगों का मानना था कि कालाधन समाप्त हो गया है।

दिलचस्प बात यह है कि शोध में शामिल लोगों की उम्र बढ़ने के साथ ही असहमति का दर भी बढ़ता जाता है।‘’रजा के साथ इस रिपोर्ट का सह लेखन पीवीएस कुमार, सुबोध मोहन्ती और जॉन दयाल ने किया है। अर्थशास्त्री अरुण कुमार ने भी इस रिपोर्ट में अपना सहयोग दिया है। सर्वे में जिन लोगों से सवाल पूछे गए उनकी उम्र 16 साल से 35 साल के बीच थी।गौहर रजा ने आगे बताया, ‘सर्वे में शामिल 48.2 प्रतिशत लोगों का मानना था कि पीएम मोदी द्वारा गिनाए गए नोटबंदी के अहम उद्देश्यों में से एकआतंकी हमलों पर इसका कोई असर नहीं पड़ेगा। दिलचस्प बात है कि सर्वे में 45.4 प्रतिशत लोगों ने कहा कि उन्हें नहीं लगता है कि नोटबंदी से पाकिस्तान से होने वाली घुसपैठ पर कोई रोक लगेगी। जाहिर है, यह जारी है और सीमा पर हमलों में अचानक से तेजी भी आ गई है।

नोटबंदी से वेश्यावृत्ति रुकी है: रविशंकर
जनसत्ता के अनुसार केंद्रीय मंत्री रवि शंकर प्रसाद ने बुधवार को कहा कि नोटबंदी के कारण देशभर में वेश्यावृत्ति और मानव तस्करी काफी हद तक कम हो गई है। बीजेपी नोटबंदी की पहली वर्षगांठ को एंटी-ब्लैक मनी डे की तरह मना रही है। कानून मंत्री ने कहा कि भारत में मांस के व्यापार में गिरावट आई है। महिलाओं और लड़कियों की ट्रैफिकिंग काफी हद तक कम हो गई है। नेपाल और बांग्लादेश में भारी तादाद में पैसा पहुंचाया जाता था। मांस के व्यापार के लिए 500 और 1000 के नोटों का इस्तेमाल होता था, जो अब कम हो गया है। प्रसाद ने दावा किया कि नोटबंदी के बाद से जम्मू-कश्मीर में पत्थरबाजी की घटनाओं में कमी आई है। उन्होंने कहा, नोटबंदी के एक वर्ष ने यह साबित किया है कि फैसला राष्ट्रहित में था। गौरतलब है कि इस फैसले को विपक्ष आपदा तो बीजेपी मास्टरस्ट्रोक बता रही है।
पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने नोटबंदी को ‘डिमो-डिजॉस्टर’ (नोटबंदी हादसा) बताते हुए मंगलवार को ट्विटर पर अपने डिस्प्ले पिक्चर को काला कर दिया। कांग्रेस और तृणमूल कांग्रेस सहित ज्यादातर विपक्षी दल आज नोटबंदी का एक साल पूरा होने के अवसर पर ‘काला दिवस’ मना रहे हैं। ममता ने सोमवार को घोषणा की थी कि नोटबंदी के एक साल पूरे होने पर वह अपने ट्विटर का डिस्प्ले पिक्चर काला रखेंगी। मुख्यमंत्री ने ट्वीट किया है, ‘‘मैंने अपना ट्विटर का डिस्प्ले पिक्चर काला कर दिया है। #नोटबंदीहादसा। अपनी आवाज उठाएं।#नवंबर8कालादिवस।’’

Previous
Next

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*