Skip to Content

दिल्ली की जनता के कार्यों में बाधा पहुंचा रहे उप राज्यपाल के ख़िलाफ़ प्रदर्शन से भाजपा परेशान क्यूँ ? केजरीवाल

दिल्ली की जनता के कार्यों में बाधा पहुंचा रहे उप राज्यपाल के ख़िलाफ़ प्रदर्शन से भाजपा परेशान क्यूँ ? केजरीवाल

Be First!

नई दिल्ली। उपराज्यपाल अनिल बैजल पर दिल्ली के मुख्यमंत्री मंत्री अरविंद केजरीवाल ने गम्भीर आरोप लगाया है कि वह दिल्ली के विकास और योजनाओं में रुकावट बने हुए हैं। बहुत सारी योजनाओं को लागू करने के लिए सरकार ने फाइल को उपराज्यपाल के पास भेजा हुआ है लेकिन उपराज्यपाल किसी भी फाइल पर हस्ताक्षर नहीं कर रहे हैं।

दिल्ली के लोंगों के घर घर राशन पहुंचाने और मुहल्ला क्लिनिक जैसी कई लोक कल्याणकारी योजनाएं उपराज्यपाल की बेरुखी के कारण अधर में लटकी हुई है। अरविंद केजरीवाल अपने सहयोगियों के साथ अनिल बैजल से मिलने के लिए 11/6/18 को गए थे , परन्तु अनिल बैजल की तरफ से सन्तोषजनक जवाब न मिलने के कारण केजरीवाल, मनीष सिसोदिया और कुछ अन्य मंत्रियों ने विरोध स्वरूप राज निवास पर ही धरना शुरू कर दिया।

पूरी रात केजरीवाल और उनके सहयोगियों ने उपराज्यपाल के ड्राइंगरूम के सोफे पर गुजार दिया और बाहर मीडिया में चल रही खबर से उपराज्यपाल की कार्यशैली पर सवाल उठने लगे जिससे भाजपा बिलबिलाने लगी। क्योंकि इस सारे खेल में अप्रत्यक्ष रूप से मुख्य किरदार का रोल केंद्र सरकार निभा रही है।
केजरीवाल का धरना आज भी जारी है। अब उनके साथ पार्टी के कार्यकर्ता और दिल्ली की जनता भी धरने में शामिल हो गयी है।

2019 चुनावों के नजदीक होने के कारण भाजपा केजरीवाल को योजनाओं का लाभ नहीं लेने देना चाहती है। भाजपा की गिरती लोकप्रियता के कारण 2019 की हार का भय सता रहा है। इस लिए वह अपने मातहतों के द्वारा गैर भाजपा शासित राज्यो की सरकारों को कार्य कार्य करने से रोका रही है, उनमें दिल्ली सबसे खास है।

केजरीवाल के अनुसार उपराज्यपाल के सहयोग न करने के कारण दिल्ली का विकास रुका हुआ है और जनता सुविधाओं के अभाव में जीवन यापन कर रही है। उपरज्यपाल के अड़ियल रवैय्ये के कारण बिजली, पानी, राशन और अस्पताल जैसी व्यवस्थाओं में सुधार नहीं हो पा रहा है और जब हम विरोध करते हैं तो भाजपा को परेशानी होती है।

Previous
Next

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*