Skip to Content

गुजरात: जब राहुल गाँधी से लिपट कर रोने लगी महिला प्रोफेसर, कहा मिलता है 12000/ मासिक वेतन

गुजरात: जब राहुल गाँधी से लिपट कर रोने लगी महिला प्रोफेसर, कहा मिलता है 12000/ मासिक वेतन

Be First!

नई दिल्ली। गुजरात विधान सभा चुनाव का महासंग्राम शुरू है और इस चुनावी संग्राम में नई -नई बाते खुल कर सामने आ रही हैं। यहाँ पर अस्थाई प्रोफेसरों को सिर्फ १२०००/ मासिक दिया जाता है। कांग्रेस उपाध्यक्ष राहुल गांधी भी दो दिन के गुजरात दौरे पर हैं। इस दौरान राहुल गांधी शुक्रवार जब अहमदाबाद के निकोल में ज्ञान अधिकार सभा में अध्यापकों से मिल रहे थे तभी वहां मौजूद महिला व्याख्याता रंजना अवस्थी राहुल की तरफ बढ़ीं और गले लिपटकर रोने लगीं।

महिला ने अपनी परेशानी सुनाते हुए बताया कि 22 सालों से पार्ट टाइम लेक्चरर की नौकरी करने के बाद भी हमारी सैलरी केवल 12 हजार रुपए महीना ही है। हमें मातृत्व अवकाश नहीं दिया जाता है। रंजना ने कहा कि अब कोई उम्मीद नहीं है, ये बात केवल हम जानते हैं कि हम लोग कैसे संघर्ष कर रहे हैं और कितना परेशानियों का सामने कर रहे हैं।

हिंदुस्तान अख़बार के अनुसार रंजना ने कहा कि अब सरकार 40 हजार रुपये प्रति माहीने वेतन निश्चित कर हमारी पूरी सेवा को समाप्त करने की योजना बना रही है, इस वजह से हमें पेंशन और अन्य लाभ नहीं मिलेंगे। महिला प्रॉफेसर ने कहा कि बाकी लोगों की तरह हम भी पेंशन की सुविधा के साथ रिटायर होना चाहते हैं। रंजना का दुख सुनकर राहुल गांधी भी भावुक हो गए और उन्होंने महीला को गले लगा लिया। राहुल ने महिला का आश्वासन दिया कि पार्टी इस मामले पर जरूर ध्यान देगी।

Previous
Next

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*