Skip to Content

गुजरात:  चुनावीं जंग में राहुल गाँधी के वार से घायल भाजपा ने देश भर के मंत्रियों और संतरियों को मैदान में उतारा

गुजरात: चुनावीं जंग में राहुल गाँधी के वार से घायल भाजपा ने देश भर के मंत्रियों और संतरियों को मैदान में उतारा

Be First!

नई दिल्ली। गुजरात विधान सभा की चुनावी महाजंग शुरू हो चुकी है, और इस महाजंग में कांग्रेस और भाजपा के दिग्गजों ने मोर्चा संभाल लिया है। गुजरात चुनाव देश के प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी के लिए प्रतिष्ठा का सवाल है। अगर भाजपा गुजरात चुनाव हार जाती है तो वर्ष २००१९ लोकसभा का चुनाव जीतना इनके लिए मुश्किल ही नहीं नामुमकिन होगा। भाजपा जिस राहुल गाँधी को पप्पू कह कर मजाक उड़ाती थी और महत्व नहीं देती थी आज उसी राहुल गाँधी ने गुजरात में भाजपा की नींद उड़ा रक्खी है।

मंहगाई, जीएसटी, बेरोजगारी, विकास और भ्र्ष्टाचार जैसे मुद्दों पर फंसी भाजपा ने गुजरात में वही अपना पुराना जाति और धर्म का कार्ड खेलने का प्रयास किया है लेकिन जनता अब जागरूक हो चुकी है। वह अब हिन्दू और मुस्लमान नहीं बल्कि विकास और रोज़गार का सवाल मोदी से कर रही है। प्रधान मंत्री मोदी के सहारे चुनाव जितने वाली भाजपा अब पीएम की रैली में भीड़ न जुटने से चिंतित है। लाख कोशिशों के बावजूद पीएम की रैली में गुजरात की जनता आने को तैयार नहीं है। इसलिए भाजपा ने देश के कोने – कोने से संघ और भाजपा के कार्यकर्तओं को गुजरात बुलाया है जिनकी संख्या लाखों में है और यही लोग प्रधान मंत्री की रैली की शोभा बढ़ा रहे हैं। सभी भाजपा शासित राज्यों के मुख्य मंत्रियों, विधायकों, सांसदों और कैबिनेट मंत्रियों को गुजरात के महायुद्ध में शामिल होने का फरमान जारी किया गया है।

गुजरात के इस चुनावी महायुद्ध में लाखों धुरंधर राजनैतिक योद्धाओं से अकेला लड़ने वाला योद्धा राहुल गाँधी ने जैसे गुजरातियों पर जादू कर दिया है। जहाँ भी लोगों को राहुल गाँधी के आने की भनक लग जाती है वहीं लोग घंटों पहले से सड़कों पर खड़े हो कर अपने प्रिय नेता जा इंतज़ार करते हैं। बैठकों और रैलियों में जुट रही भारी भीड़ से जहाँ राहुल गाँधी उत्साहित है वहीँ पार्टी के कार्यकर्तओं में अपार उत्साह और उमंग देखने को मिल रही है।

गुजरात का नौजवान बाइस साल से सत्ता कर रही भाजपा से ऊब चूका है। गुजरातियों का कहना है कि भाजपा ने पूरे राज्य को भिखारी बना दिया है। चारों तरफ बेरोज़गारी, अशिक्षा, भुखमरी और लाचारी है। राज्य के अस्पताल और स्कूल भगवान भरोसे चल रहे हैं। नेताओं और मंत्रियों ने अपना और अपने रिश्तेदारों की जेब भरने का कार्य किया है, राज्य के विकास की किसी को चिंता नहीं है यह लोग सिर्फ झूठ बोलकर जनता को बेवकूफ बनाते हैं लेकिन इस बार जनता बेवकूफ बनने वाली नहीं है। हार्दिक पटेल के समर्थन से चुनाव लड़ रही कांग्रेस पार्टी को इस बार जिताने का निर्णय गुजरातियों ने कर लिया है।

Previous
Next

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*