Skip to Content

भ्र्ष्टाचार पर प्रहार: इलाहबाद उच्च न्यायालय ने कानपुर देहात के दो जजों को किया निलंबित

भ्र्ष्टाचार पर प्रहार: इलाहबाद उच्च न्यायालय ने कानपुर देहात के दो जजों को किया निलंबित

Be First!

लखनऊ संवाददाता। भ्र्ष्टाचार के मामले में इलाहाबाद उच्च न्यायालय ने कानपुर देहात के जिला न्यायधीश विनोद कुमार यादव व सिविल जज सीनियर डिवीजन अनिल कुमार सप्तम को निलंबित कर दिया है। इनके खिलाफ लोक अदालत निधि के तहत जारी 27 लाख रुपये में घपला करने का आरोप है। इस मामले की जांच भी शुरू कराई गई है। मालूम हो कि लोक अदालत के आयोजन और वादों के त्वरित निस्तारण के लिए लगभग पांच महीने पहले राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण की तरफ से जिला न्यायाधीश को 27 लाख रुपये आवंटित किए गए थे।

दैनिक जागरण अख़बार के मुताबिक आरोप है कि उन्होंने बिना लोक अदालतों का गठन किए फर्जी बिल बाउचर बनाकर मिली धनराशि खर्च होना दिखाया है। हाईकोर्ट ने इस मामले की शिकायत मिलने पर जांच में प्रथम दृष्टया आवंटित राशि के घपले के आरोप की पुष्टि पाई और न्यायाधीशों की प्रशासनिक कमेटी ने आरोपों की गंभीरता को देखते हुए जिला जज विनोद कुमार यादव व सिविल जज सीनियर डिवीजन अनिल कुमार सप्तम को निलंबित करने का आदेश दिया है और मामले की जांच शुरू करा दी गई है। इलाहाबाद हाईकोर्ट के महानिबंधक फैज आलम ने इस संबंध में आधिकारिक जानकारी देने से असमर्थता जताई, लेकिन जिला जज के निलंबन की खबर को सही बताया है।

Previous
Next

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*