Skip to Content

अनुपूरक बजट: योगी सरकार ने पेश किया 11 हजार 3 सौ 88.17 करोड़ रुपए का बजट

अनुपूरक बजट: योगी सरकार ने पेश किया 11 हजार 3 सौ 88.17 करोड़ रुपए का बजट

Be First!

लखनऊ. योगी सरकार विधानसभा में आज 2017-18 का पहला अनुपूरक बजट पेश किया। ये योगी सरकार का पहला अनुपूरक बजट है। योगी सरकार ने अपना पहला अनुपूरक बजट 11 हजार 3 सौ 88.17 करोड़ रुपए का पेश किया है।

  • बजट की खास बातें-

    -अंतरष्ट्रीय बौद्ध संस्थान के लिए 1.3 करोड़,
    आगरा एक्सप्रेसवे के लिए सिम्बोलिक 1000 रुपया
    , पूर्वांचल एक्सप्रेसवे के करीब 4 करोड़ रुपए।
    -दीनदयाल ग्राम ज्योति योजना के लिए 58 करोड़।
    -स्वच्छ भारत के तहत ग्रामीण इलाकों में शौचालय निर्माण के लिए।
    -गन्ना भुगतान के लिए 200 करोड़।
    -जेलों में बिजली बिल के भुगतान के लिए 7 करोड़।
    -एटीएस, एसटीएफ समेत पुलिस महकमे के लिए 164 करोड़।
    -मेडिकल कॉलेजों के लिए 425 करोड़।
    -नागरिक उड्डयन विभाग को 200 करोड़।
    -स्वच्छ भारत मिशन में 522 करोड़।
    -कैलाश मानसरोवर भवन के लिए करीब 11 करोड़।
    -चित्रकूट में रामघाट समेत पर्यटन स्थलों के लिए 12 करोड़।
    -बनारस में विश्वनाथ मंदिर मार्गो के निर्माण के लिए 40 करोड़।
    -अल्पसंख्यको के लिए 84 करोड़।
    -प्रधानमंत्री आवास योजना के लिए 1125 करोड़।

    अनुपूरक बजट में क्या होगा खास

    -योगी सरकार वित्त वर्ष 2017-18 का पहला अनुपूरक बजट सोमवार को पेश करेगी। बजट 12 हजार करोड़ रुपये रहने का अनुमान है। वित्तमंत्री राजेश अग्रवाल द्वारा विधानसभा में पेश होने वाले इस बजट में कुछ नई योजनाओं का एलान भी हो सकता है।
    -पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे, खादी व पर्यटन को मिल सकता है। पैसा केंद्र की योजनाओं से बनने वाली सड़कों के लिए गठित यूपी सड़क निर्माण निगम, खादी ग्रामोद्योग के अंतर्गत पंडित दीनदयाल उपाध्याय के नाम से प्रस्तावित नई योजना, नैमिषारण्य विकास, पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे, कृषि, दुग्ध विकास, पंचायतीराज, आईटी, गन्ना आदि विभागों से जुड़े प्रस्तावों पर बजट का एलान हो सकता है।
    -केंद्रीय योजनाओं के लिए केंद्र से मिली रकम का बजटीय प्रावधान कराने, प्रदेश सरकार की चालू योजनाओं को पूरा करने के लिए जरूरी रकम के बंदोबस्त के साथ आकस्मिक निधि से लिए गए 200 करोड़ रुपये से अधिक की प्रतिपूर्ति से जुड़े प्रस्ताव भी शामिल हो सकते हैं।

    -बीजेपी सरकार विधानमंडल के दोनों सदनों में अनुपूरक बजट पेश करेगी। विकास योजनाएं के लिए धनराशि का इंतजाम होगा इस अनुपूरक बजट में। योगी सरकार का यह पहला अनुपूरक बजट है। इसमें केंद्रीय योजनाओं के लिए भी बजट की व्यवस्था की गई है।

    -डेढ़ दर्जन ऐसी योजनाएं हैं, जहां बजट की दरकार, अनुपूरक बजट में इन योजनाओं के लिए भी बजट की इंतजाम किया जा सकता है।
    -धार्मिक नजरिए से महत्वपूर्ण काशी, मथुरा जैसे शहरों के विकास के लिये बजट में प्रावधान है। 12 हजार करोड़ से अधिक की योजनाओं के लिए धनराशि के प्रावधान है।
    -वहीं, बिजली और कानून व्यवस्था के मुद्दे पर विपक्ष सरकार को घेरेगी। भाजपा के पूर्व विधायक प्रेम प्रकाश तिवारी के बेटे वैभव तिवारी की हत्या का मामला सदन में उठ सकता है। विपक्ष ने कानून व्यवस्था के मुद्दे पर सरकार को घेरने की तैयारी की है। गुजरात और हिमाचल के चुनावी परिणामों जो लेकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ विधानसभा के सेंट्रल हॉल में प्रेस कॉन्फ्रेंस कर सकते हैं।

    सीएम ने किया था संबोधित

    -वहीं, शुक्रवार को हंगामे के बीच सदन से बाहर आकर सीएम योगी ने मीडिया को संबोधित किया था। सीएम योगी ने कहा- “केवल 47 लोगों के लिए पूरी विधानसभा बंधक हो जाये इसकी अनुमति नहीं मिलनी चाहिए। इन 47 लोगों की वजह से बाकी विधायकों की आवाज दबनी नहीं चाहिए।”

    -“बिजली के मुद्दे पर बहस करने के बजाय ये हंगामा कर रहे हैं। इन लोगों को डर है कि अगर बहस करेंगे, तो इनकी सरकार के काले कारनामे सामने आ जाएंगे। कुछ पैसों की बढोत्तरी पर ये लोग हल्ला कर रहे हैं, लेकिन जो काम हमने किया है, उसे नहीं देख रहे हैं। डीजल से जब पंप चलता था, तो ज्यादा खर्च होता था। अब बिजली मिल रही है किसान का पैसा बच रहा है।”

Previous
Next

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*