Skip to Content

मासूम प्रद्युम्न हत्या मामले में प्रिंसिपल बर्खास्त, सीबीएसई बोर्ड करेगा जांच

मासूम प्रद्युम्न हत्या मामले में प्रिंसिपल बर्खास्त, सीबीएसई बोर्ड करेगा जांच

Be First!

नई दिल्ली। हरियाणा के गुरुग्राम में रायन इंटरनेशनल स्‍कूल के शौचालय में सात वर्ष के छात्र प्रद्युम्‍न की नृशंस हत्‍या के बाद कार्यकारी प्रिंसिपल नीरजा बत्रा को सस्‍पेंड कर दिया गया है। सात वर्षीय छात्र की निर्मम हत्या के मामले में जिम्मेदार लोगों की गिरफ्तारी और स्कूल प्रबंधन के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की मांग को लेकर शनिवार को स्कूल के बाहर हिंसक विरोध प्रदर्शन हुआ। दूसरी कक्षा के छात्र प्रद्युम्न का शव शुक्रवार को स्कूल के शौचालय में मिला था। उसका गला रेता गया गया था।

गुस्साई भीड़ ने शनिवार को स्कूल के मुख्य द्वार का ताला तोड़ दिया। प्रद्युम्‍न के माता-पिता और अन्‍य लोगों के स्‍कूल के बाहर भारी विरोध-प्रदर्शन के चलते हरियाणा सरकार के कई मंत्रियों को मौके पर उतरना पड़ा। कमिश्‍नर ऑफ पुलिस के ऑफिस के बाहर भी प्रदर्शन कर स्‍कूल प्रबंधन के खिलाफ कड़ी से कड़ी कार्रवाई की मांग की गई। स्‍कूल में शुक्रवार को हुई तोड़फोड़ के बाद भारी सुरक्षा बल तैनात किया गया है। बच्चे का शव परीक्षण करने वाले फॉरेंसिक एक्सपर्ट दीपक माथुर ने कहा, “मृतक की गर्दन पर दो घाव थे। उसका गला लगभग पूरी तरह काट दिया गया था। उसकी मौत अत्यधिक खून बहने के कारण हुई है।” परिवार का आरोप है कि पुलिस स्कूल प्रबंधन का पक्ष ले रही है। पुलिस ने शुक्रवार रात स्कूल की बस के एक कंडक्टर अशोक कुमार को गिरफ्तार किया था। पीड़िता की मां ने प्रधानाध्यापिका को तुरंत गिरफ्तार करने की मांग की है।
अख़बार जनसत्ता के अनुसार स्कूल प्रबंधन के खिलाफ सीबीएसई बोर्ड ने एक जाँच कमिटी का गठन करके जाँच करवाने का आश्वासन दिया है। परिजनों में स्कूल प्रबंधन के खिलाफ गुस्सा है और क्षेत्रीय लोग जिनके बच्चे रेयान स्कूल में पढ़ते हैं वह अपने बच्चों के भविष्य को लेकर चिंतित हैं। जिला प्रशासन ने स्कूल को अनिश्चित काल के लिए बंद कर दिया है। अभिभावकों का कहना है की बस के कंडक्टर को बलि का बकरा बनाया गया है जबकि असली हत्यारा कोई और है जिसे स्कूल बचाने का प्रयास कर रहा है।
बच्चे की निर्मम हत्या से पूरा देश सदमें है और लोगों में स्कूल प्रबंधन के खिलाफ गुस्सा है। लोगों का कहना है की बच्चों की सुरक्षा की ज़िम्मेदारी स्कूल की है और स्कूल ने लापरवाही किया है इसके लिए उसे सजा मिलनी चाहिए।

Previous
Next

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*